बड़ी खबर: PNB घोटाले में जबरदस्त एक्शन, सामने आया ऐसा आतंकी कनेक्शन, कांग्रेस के उड़े होश-यूवराज सदमे से पागल..

Loading...

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में CBI-ED की कार्रवाई लगातार जारी है. लगातार नए-नए खुलासे हो रहे हैं. देश की कई मशहूर हस्तियों के नाम अब इसमें सामने आ रहे हैं. साथ ही नेताओं के गंदे खेल का भी पर्दाफ़ाश हो रहा है. मगर अब इस मामले के आतंकी लिंक का भी खुलासा हो रहा है, ऐसी सनसनीखेज जानकारी सामने आ रही है, जिसे देख आपके होश उड़ जाएंगे.

हीरा कारोबार के आतंकवादियों से रिश्ते:
कागजी कंपनियों और हवाला नेटवर्क से होते हुए अब इसके लिंक आतंकवादियों से जुड़ने लगे हैं. हीरे व्यापार के जरिये देश में आतंकी फंडिंग होने की बात सामने आ रही है. डाटा साइंटिस्ट गौरव प्रधान ने खुलासा किया है कि हीरे व्यापार के जरिये देश में आतंकवादियों की फंडिंग की जाती है, साथ ही हवाला और मनी लॉन्ड्रिंग भी की जाती रही है.

उन्होंने खुलासा किया है कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की गीतांजलि जेम्स के मनी लॉन्ड्रिंग गिरोह और बेल्जियम के हीरा तस्करों के साथ सम्बन्ध हैं. गौरव प्रधान के मुताबिक़ ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा भारत से जो प्राचीन भारतीय मूर्तियों व् हस्तलिपियाँ चोरी की गयी थी और उन्हें ब्रिटिश एम्पायर के अधिकारियों के वेयरहाउस में छिपा दिया गया था. उनकी नीलामी में लिप्त Christie & Sotheby के लंदन ऑक्शन हाउस ने नीरव मोदी को लंदन में हीरा कारोबार सेटअप करने में मदद की थी.

IPL क्रिकेट टीम,बॉलीवुड और आतंकी फंडिंग से कनेक्शन:
चुराई गई प्राचीन भारतीय मूर्तियों की गैर क़ानूनी नीलामी का गौरखधंधा वहां आज भी जारी है और ये 5 मिलियन डॉलर का काला कारोबार बन चूका है गौरव प्रधान ने खुलासा किया है कि दुनिया के सबसे बड़े हीरा कारोबारियों में शामिल कई कारोबार कालेधन की लिस्ट में भी सबसे ऊपर है, ये लीं मानी लोर्डिंग . भारत में IPL क्रिकेट टीम खरीदने में बॉलीवुड फिल्मों में पैसे लगाने में और आतंकी फंडिंग में भी शामिल है .

गौरव प्रधान ने खुलासा किया है कि मनी लोड्रिंग में शामिल लोगों की लिस्ट में गुजरात के कई प्रसिद्द हिरा कारोबारियों के नाम भी शामिल है. जो अन बेल्जियम में रहते है. हीरे की तस्करी में शामिल लोगों के जरिये ही भारत में आतंकी फंडिंग भी की जाती है,

मुंबई आतंकी हमले के पीछे हिरा कारोबार:
गौरव प्रधान के मुताबिक नीरव मोदी तो हीरा कारोबारियों द्वारा चलाये जाने वाले मनी लोंड्रिंग रैकेट का एक छोटा सा खिलाडी है. मई 2014 में ऐसे 8 मनी लोंड्रिंग हीर कारोबारियों को भारतीय आयकर विभाग ने क्लीन चिट दे दी थी. 26/11 में हुए मुंबई आतंकी हमले से 6 महीने पहले फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट को आतंकी गतिविधियों की फंडिंग की जाँच के दौरान इसके हीरा कारोबार से जुड़े है.

बेक्जियम से सूरत हीरा कारोबार में पैसे भेजकर उसके जरिये आतंकी फंडिंग होने की बात सामने आयी थी. 2003 में मुंबई के ज्वैलरी बाज़ार में हुए धमाकों में भी बेल्जियम के गुजरती हीरा कारोबारियों को निशाना बनाया गया था.

पठानकोट आतंकी हमले में भी हुआ खुलासा:
उन्होंने बताया कि पठानकोट में हुए आतंकी हमले के दौरान गुरदासपुर के SP सलविंदर सिंह ने भी NIA पूछताछ के दौरान कबूल किया था कि वो बॉर्डर पार के पाकिस्तानी ड्रग तस्करों की सहायता करता था और हर तस्करी के लिए उसे रिश्वत हीरों के रूप में दी जाती थी.

बता दें कि गुरदासपुर के SP सलविंदर सिंह पर पठानकोट आतंकी हमले में आतंकियों की सहायता करने का आरोप है. आतंकी सलविंदर सिंह की निति बत्ती लगी आधिकारिक SUV में सवार होकर ही पठानकोट पहुंचे थे. जिसपर सलविंदर सिंह ने कहा था कि आतंकियों ने उन्हें अगवा किया था और बाद में उन्हें घने जंगल में फैक दिया और उनकी नीली बत्ती लगी अधिकारिक SUV लेकर फरार हो गए थे.

नीरव मोदी के मीडिया नेटवर्क के साथ रिश्ते:
साफ है कि SP ने रिश्वत के लिए आतंकियों की सहायता की थी. जोकि उसे हीरों के रूप में दी जाती थी.गौरव प्रधान ने ये दावा भी है कि नीरव मोदी की गीतांजलि जेम्स, टाइम्स ऑफ़ इंडिया ग्रुप की पार्टनर भी है.

बहरहाल देखा जाये तो कुछ हीरा कारोबारियों द्वारा बड़ा रैकेट चलाया जा रहा है. जो न केवल कालेधन को सफेत करने में लिप्त है बल्कि आतंवादी गतिविधियों की फंडिंग में भी शामिल है जैसे जैसे मामले में जाँच आगे बढ़ेगी , कई नए खुलासे होंगे और कई सफेदपोश काले कूबर सलाखों के पीछे जायेंगे.

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *